" " प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं Types of Printers In Hindi ~ TechJankari-Learn Athical Hacking In Hindi-Technology Ki puri Jankari Hindi me

प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं Types of Printers In Hindi

हेल्लो दोस्तों टेक जानकारी में आपका स्वागत है आज हम जानेंगे की प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं Types of Printers In Hindi  प्रिंटर का उपयोग हम क्यों करते है? जैसा की हम सब जानते है की प्रिंटर एक output  डिवाइस है जो docoment दस्तावेज़ों (काग़ज़) और चित्रों को प्रिंट करता है ये कई तरह के होते है 
प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं Types of Printers In Hindi
प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं Types of Printers In Hindi

प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं Types of Printers In Hindi
  • डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर ( Dot Matrix Printer): डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर काफी पुराने समय से इस्तेमाल  होते आ रहा है यह प्रिंटर छबी बनाकर प्रिंटिंग करता है इसकी गुणवता प्रति इंच डॉट्स के ऊपर निर्भर होती है इस प्रिंटर के अंदर एक मेकनिकल प्रिंट हेड होता है जिसके अंदर स्टील पिन होते है इसमें प्रिंट हेड पर धातु पिन का उपयोग किया जाता है।  प्रिंट हेड को बल के साथ रिबन में  टक्कर लगाई जाती है जिससे कागज पर अक्षरों की छाप बनता हैजो  कंप्यूटर में भेजा देता प्रिंट करने के लिए प्रिंट हेड अपने अंदर पिन को इंक रिबन के ऊपर मार्के हजारो पेपर पर उतर देता है   इस प्रकार के प्रिंटर का उपयोग  दस्तावेज़ों जैसे  रसीदों कार्बन कॉपी प्रिंटिंग में उपयोग किया जाता है  

         इसे भी पढ़े:-    सॉफ्टवेयर क्या है? और कितने प्रकार के होता है
  • इंक जेट प्रिंटर ( Ink Jet Printer):  इंजेक्ट प्रिंटर इंक नोझल से इंक छिडकाव कर देता या छबी प्रिंट करता है इस प्रिंटर की इंक जल्दी सुख्नेवाला इंक होता है ये सभी घर के कंप्यूटर उपयोगकर्ता फोटो स्टूडियो कलाकार इत्यादी के लिए सबसे जादा लोगपिर्य है इस प्रिंटर में CYMK MEGNTA BLACK AND WITE दिस्पोसिबल कलर होता है प्रिंटर चित्र कागज पर इंक छिड़क कर प्रिन्ट निकलता है
       इसे भी पढ़े:-      नैनो टेक्नोलॉजी क्या है 
  • लेज़र प्रिंटर ( Laser Printer):  प्रिंटिंग करने के लिए लेज़र का इस्तेमाल करता है यह प्रिंटर पेज प्रिंटर के वर्ग में आता है क्युकी यह पूरा पेज प्रिंट करता है लेज़र प्रिंटर सभी स्कूल बैंक ऑफिस जहा कम समय में जादा प्रिंटिंग की आवेसकता होता है इस प्रिंटर में इंक टोनर जाता है इसके अंदर मेनेटिक ड्रम मेकनिकल पार्ट होते है  प्रिन्ट करने के लिए लेजर की एक किरण का उपयोग करता है।   ये प्रिंटर्स काफी महंगे होते हैं और इन्हें समय-समय पर सर्विसिंग की भी जरूरत होती है।
          इसे भी पढ़े:-       सुपर कंप्‍यूटर क्‍या है 
                               भारत के प्रथम सुपर कंप्यूटर का नाम 
  • थर्मल प्रिंटर ( Thermal Printer): इस प्रिंटर में हीट सेंसिटिव कागज का इस्तेमाल होता है, इसमें पहले  गर्म पिनों को हीट सेंसिटिव पेपर के किसी स्पॉट पर गर्म किया जाता है  इस तरह के प्रिंटर फैक्स कैलकुलेटर  में उपयोग होता है क्युकी ये काफी सस्ती होती हैं लेकिन वे धीरे-धीरे प्रिंट करते हैं
            इसे भी पढ़े:-          प्रोग्रामिंग भाषा क्‍या है और कितने प्रकार के है
                                    Antivirus क्या है और कैसे काम करता है 
  • ऑल इन वन प्रिंटर (All in one Printer): में प्रिंटर स्कैनर और फक्स ये तिन hardware devised एक करके बनाया गया है इसमें ऑटो शिट फिल्ड स्कैनर लगाया होता हा आजकल  लोग ऐसे प्रिंटर का इस्तेमाल कर रहे इस प्रिंटर में प्रिंटिंग के साथ स्कैनर और फ़ैक्स स्थापित होता हैं, जो प्रिंटर की मेमोरी स्पेस ज्यादा लेता हैं। इस कारण से ,यह प्रिंटर सामान्य से  धीमा होता है कैलकुलेटर 
 आपको यह  प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं जानकारी केसा लगा हमें कमेन्ट कर के जरुर बताये धन्यवाद 

Previous
Next Post »