" " Biometric Fingerprint Scanner क्या होता हैं? ~ TechJankari-Learn Athical Hacking In Hindi-Technology Ki puri Jankari Hindi me

Biometric Fingerprint Scanner क्या होता हैं?

हेल्लो दोस्तों क्या आप जानते है Biometric Fingerprint Scanner क्या होता हैं? अगर नहीं तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े  टेक्नोलॉजी की इस युग में पहले के मुकाबले आज बहुत उनत हो चुकी है पहले किसी कंप्यूटर या mobile में लॉक करने के लिए  पासवर्ड डालना पड़ता था पर आज किसी भी mobile या कंप्यूटर को लॉक करना होता है तो अपने अंगूठे से लॉक कर सकते है इसका उदाहरण  सेंसर वाले स्मार्टफोन को देख सकते हैं. जिस भी स्मार्टफोन या devised में फिंगरप्रिंट सेंसर होगा तो लॉक करने पर  उसी व्यक्ति के फिंगरप्रिंट से खुलेगा जिसका फिंगरप्रिंट पहले उस स्मार्ट फोन में सेव किया गया है मतलब की आपका  अंगूठा ही आपका (password) पहचान होगा और इसका खास बात यह भी है की कोई भी दूसरा कॉपी नहीं बनाया जा सकता है 

Biometric Fingerprint Scanner क्या होता हैं?

Biometrics एक ऐसा तकनीक है जिससे किसी भी व्यक्ति के Physiological और Behavioral Characteristic को पहचाना जा सकता है इस तरीका से चेहरा फिंगरप्रिंट, आंख और आवाज जैसी चीजों को Devised से पहचाना जा  सकता है जैसे की फिंगरप्रिंट सेंसर मोबाइल में Unlock करने के लिए फिंगरप्रिंट का इस्तेमाल कर सकते हैं 
Fingerprint Scanner कैसे काम करता हैं?

हर इन्सान  की Fingerprints यानी उंगलियो के निशान अलग अलग होते हैं जिसका फ़ायदा हमे फिंगर प्रिंट लॉक करने में  यूज़ होता हैं क्योंकि कोई दूसरा यूज़र बिना हमारे Finger प्रिंट के वो हमारे Devices को Unlock नही कर सकता हैं।जब हम अपने Device में अपना Finger के Prints को Save करते है तब यह हमारे फिंगर के कुछ पॉइंट्स को स्कैन करके इसे “Binary Code” में Save कर लेता हैं। जिसके बाद आप जब अपने डिवाइस या फोन के फिंगर प्रिंट सेंसर पर अपना उंगली रखते हैं वैसे ही यह अनलॉक हो जाता हैं। क्युकी  हर फ़िंगर प्रिंट का कोड अलग होता है और यूनिक होता है 
  • जैसा की मैंने बतया  कोई दूसरा यूज़र अनलॉक नही कर सकता हैैं यानी इसे सिर्फ वही यूूूज़र अनलॉक          कर सकता है जिसने लॉक किया हो।
  • बायोमैट्रिक्स डाटा को कोई कॉपी नही कर सकता हैं।
  • साथ ही Biomatrics Sensor द्वारा दिया गया Data को कोई भी दोबारा नही बना सकता हैं।
  • यह बायोमैट्रिक्स अन्य Passwords के मुकाबले ज्यादा Safe होते हैं।




Previous
Next Post »